झाँसी की रानी | Jhansi ki rani | देश भक्ति गीत | desh bhakti poems in hindi


खूब लड़ी मर्दानी वो तो झाँसी वाली रानी थी कविता | Hindi recitation poems with lyrics

100 thoughts on “झाँसी की रानी | Jhansi ki rani | देश भक्ति गीत | desh bhakti poems in hindi

  1. sindhiya holkar na Rani ka sath diya hota to azadi usi waqat mil jati

  2. Mardo ne to bad me ki thi shanghars karne me desh ko azaad….. pehle toh ayi wirangana mardaani woh to jhansi wali rani thi.
    jai hind.

  3. Very bad and poor pronunciation
    Low impact. Itni great poem. Ko kitni buri Tarah recite kiya. Sad.

  4. Thanks because of this video i am able to learn this poem as it was my holiday homework
    THANKS ☺😊🌠✨

  5. De yeh mere reader may bhe hai .Bhot Acha hai aap ise kaise bagair dekhe padlete hai😊😊😊😊😊😊😊😊😊

  6. Bahut achhi Kavita hai par aise nhi badhate ese , ese Jose ke sath padhate hai . very nice

  7. अरे एमवाई बिगेस्ट बिगेस्ट एंड थिंग्स

  8. सिंधिया ने रानी का सात नही दिया ये लड़ाई 57 में वह नहीं लड़ती तो आज भी अंग्रेज भारत मे होतेफिर सबसे पहली स्वतन्त्रता कि लड़ाई लड़ी थी उस वीरांगना ने तो लोग उसे भोल गए सब महापुरुषों की जयंती मनाई जाती हैं पर उनकी नही मनाते स्कूल में कई कोले जो में उनकी तस्वीर तक नही मिलती ये हिन्दुओं को क्या हो गया हम तो जिंदगी भर वीरांगना कि जय बोले तो कम

  9. Nice poem ☺😁😁😉🙂💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐🦄🏰🏰🏰🏰🏯🏯🏯🏯🏯🏯😍🤩🐿💐💐🌷⚘🥀💐🌸

  10. Maine yeh Republic day ko Suna tha best poem😊😊😊😇❤️💐💐💐

  11. Khansi ki rani ki jai poem sunker Ankho m aasuyo aa gye ye poem humne desh bhakti ki bhavna badati h itni brillent or dil ko choo lene wali poem ko sunsne k liye thanks a lot

  12. Nice, Jisne Bhi Ja video Banaya Hai Hua Hamesha khush rahe🙏🇮🇳 Hamari Mathrubhumi Ke Liye Hum Apni Jaan denge❤️🇮🇳

  13. मेरी हर भारतवासी से निवेदन है कि हर स्कूल में यह मेरे पास फिर से आरंभ किया जाए बड़े-बड़े राजनेताओं से मेरा आग्रह है श्री माननीय नरेंद्र मोदी जी से मेरी विनम्र अपील है कि झांसी की रानी दुर्गावती और बड़े बड़े वीर जो कि आर्यावर्त के महानायक थे उनकी गाथाएं फिर से गाई जाए क्योंकि कुछ चंद गद्दारों ने इन वीर वीरांगनाओं को दबाने का ही काम किया है वह यह नहीं जानते कि सत्य कभी झुकता नहीं है और सत्य कभी पराजित नहीं होता है यह क्यों भूल जाते हैं कि एक छोटा सा बीज जो दिखने में साधारण सा होता है जब उस पर पानी की बूंदे पड़ती है तो वही एक पक्ष हो जाता है इसी तरह श्री माननीय प्रधानमंत्री जी आप से मेरा आग्रह है पूरे भारत वासियों की ओर से जो सच्चे सपूत होंगे उनकी ओर से जो इस राष्ट्र को राष्ट्रीय समिति उनकी ओर से नहीं कह सकता मैं क्योंकि दोगले बहुत है रहते हैं भेड़िए शेर की खाल पहने हुए खाल तो शेर की पहन लेते हैं मगर गुण उनमें नहीं होता है जय हिंद मेरा फिर से विनम्र अपील है कि हर शासकीय स्कूल आदर्श शासकीय जाल साज स्कूल में हो वहां इन वीर वीरागाथा बड़ी ताकत से और बड़ी स्वाभिमान से पढ़ाई जाए क्योंकि कुछ में खाली किताबों में उनको बंद करके रख दिया है कई स्कूल आज ऐसे ही कि जहां पढ़ाई नाम मात्र है बस पैसा पैसा पैसा कैसे भी कमाए जाते शासकीय अशासकीय स्कूल वास्तविकता धरातल पर देखनी हो तो अपने प्रांत को छोड़कर किसी और प्रांत में जा कर देखिए क्योंकि अपने प्रांत वाला कभी भी अपनी गलती नहीं शिकवा रहेगा

  14. 👌🏼👏🏻 acchi Lage Tu 1like banta hai💚💚👇👇👇👇👇

  15. Yh kavita 180 line ki h aur man main ek Josh jagane vali kavita h

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *