Chidiya Boli Kut Kut Kut Poem/Rhyme| चिड़िया बोली कुट कुट कुट – Hindi Rhyme for Nursery kids


Chidiya Boli Kut Kut Kut De do mujhko do biscuit Bhookh lagi hai khaungi Kha kar pee kar so jaungi Doodh jalebi rakkhi hai Par usme to makkhi hai Kaise khaun, kaise khaun? Chal bhookhi hi so jaun चिड़िया बोली कुट कुट कुट दे दो मुझको दो बिस्कुट भूख लगी है खाऊँगी खाकर पीकर सो जाऊँगी दूध जलेबी रखी है पर उसमें तो मक्खी है कैसे खाऊँ, कैसे खाऊँ चल भूखी ही सो जाऊँ Chidiya Boli Kut Kut Kut De do mujhko do biscuit Bhookh lagi hai khaungi Kha kar pee kar so jaungi Doodh jalebi rakkhi hai Par usme to makkhi hai Kaise khaun, kaise khaun? Chal bhookhi hi so jaun चिड़िया बोली कुट कुट कुट दे दो मुझको दो बिस्कुट भूख लगी है खाऊँगी खाकर पीकर सो जाऊँगी दूध जलेबी रखी है पर उसमें तो मक्खी है कैसे खाऊँ, कैसे खाऊँ चल भूखी ही सो जाऊँ

2 thoughts on “Chidiya Boli Kut Kut Kut Poem/Rhyme| चिड़िया बोली कुट कुट कुट – Hindi Rhyme for Nursery kids

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *