Walid ki wafat par | On my father’s death | Emotional Poetry by Nida Fazli | Rekhta Studio


तुम्हारी क़ब्र पर मैं फ़ातिहा पढ़ने नहीं आया मुझे मालूम था तुम मर नहीं सकते तुम्हारी मौत की सच्ची ख़बर जिस ने उड़ाई थी वो झूटा था वो तुम कब थे कोई सूखा हुआ पत्ता हवा से मिल के टूटा था मिरी आँखें तुम्हारे मंज़रों में क़ैद हैं अब तक मैं जो भी देखता हूँ सोचता हूँ वो वही है जो तुम्हारी नेक-नामी और बद-नामी की दुनिया थी कहीं कुछ भी नहीं बदला तुम्हारे हाथ मेरी उँगलियों में साँस लेते हैं मैं लिखने के लिए जब भी क़लम काग़ज़ उठाता हूँ तुम्हें बैठा हुआ मैं अपनी ही कुर्सी में पाता हूँ बदन में मेरे जितना भी लहू है वो तुम्हारी लग़्ज़िशों नाकामियों के साथ बहता है मिरी आवाज़ में छुप कर तुम्हारा ज़ेहन रहता है मिरी बीमारियों में तुम मिरी लाचारियों में तुम तुम्हारी क़ब्र पर जिस ने तुम्हारा नाम लिखा है वो झूटा है तुम्हारी क़ब्र में मैं दफ़्न हूँ तुम मुझ में ज़िंदा हो कभी फ़ुर्सत मिले तो फ़ातिहा पढ़ने चले आना

74 thoughts on “Walid ki wafat par | On my father’s death | Emotional Poetry by Nida Fazli | Rekhta Studio

  1. Please switch on captions for Urdu & Hindi subtitles .
    Find word meanings in the description box .
    Subscribe and press the bell icon for more videos like this.

  2. بہت عمدہ صاحب
    آواز بھی کمال
    انداز بھی کمال
    سوزوگداز بھی کمال

  3. Ma – Bap ka vazud hamesha apne bachchon ke saath zinda rahata hai..unka sarmaya bnkr…. shukriya..Nida sab..👌🙏👍

  4. بہت ہی خوب…. آنکھیں پر نم ہوگئیں…. 👌 👌

  5. मंजिल यूँ ही नहीं मिलती राही को,
    जुनून सा दिल में जगाना पड़ता है,
    पूछा चिड़िया से कि घोसला कैसे बनता है,
    वो बोली कि तिनका तिनका उठाना पड़ता है।🙏🔥🔥🔥🔥🔥🔥🙏

  6. ندا فاضلی کی یومِ وفات پر ایک عمدہ خراجِ عقیدت.

  7. Remembering Fazli sahab

    "अपना गम लेके कही और न जाया जाए
    घट में बिखरी हुई चीज़ों को सवारा जाए

    घर से मस्जिद दूर है
    चलो कुछ यूं कर लीया जाए
    किसी रोते हुए बच्चे को हसाया जाए।"

  8. No words for poem but still thinking how to describe the background creativity

  9. Garaj baras pyasi dharti ko pani de maula
    Chidiyo ko dana bachho ko gud -dhani de maula
    Do✌aur Do✌ ka jod hamesha chaar kha hota hai
    Soch samajh walo ko thodi nadani de maula
    Tere hote koi kisi ki jaan ka dushman kyu hai
    Jeene walo ko marne ki aasani de maula…..

  10. Try to add hindi meaning of urdu words …….hum kaise samjhenge maalik ye btaou jara …kindly gaur kijiyiga …

  11. bhai ek maa ke upar bnao. meri maa ka ka intqal ho gya hai. Koyi acha shayar ho. uski poetry jaldi plz.. main apka channel subscribe kar rha hu..

  12. Mere pyare walid marhoom ka aqs meri nazron ke samne gardish karne laga……….aur ankhen nam ho gaye

  13. Iss par kch Kehne k liye shayad hi alfaaz bane ho ❤️❤️🙈🙈👌👌👏👏

  14. पापा, खोकर तुम्हें मैंने पा लिया ,वह जो कहते थे कि तुम्हारे इंतकाल पर मैं रोया नहीं l

  15. beautiful! I was lucky enough to hear this live and I remember by the end of this nazm majority of the audience had tears in their eyes.

  16. Mere pyare marhoom baba
    Apki qabr me mai dafn hu
    Aur aap mere andar zinda hai
    😭😭😭😭😭😭😭😭😭😭😭

  17. آنکھ نم کر گیا بچھڑے ہوئے لوگوں کا خیال۔
    شکریہ ریختہ ❤

  18. Jagjeet singh hi has sung some of Nida Fazli's gazals and they have a very deep meaning. 😁

  19. aaaaaaaaahhhhhhhhh!!!!!! Alllah sab key maan baaap ko salamar rakhey…. emotionalllll

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *